HomeInternationalतालिबान के खिलाफ हुई नए खिलाड़ी की एंट्री, इन इलाकों को फिर...

तालिबान के खिलाफ हुई नए खिलाड़ी की एंट्री, इन इलाकों को फिर से कब्जाने की तैयारी शुरू

Published on

तालिबान के खिलाफ हुई नए खिलाड़ी की एंट्री, इन इलाकों को फिर से कब्जाने की तैयारी शुरू
तालिबान के खिलाफ हुई नए खिलाड़ी की एंट्री, इन इलाकों को फिर से कब्जाने की तैयारी शुरू

हाल ही में तालिबान ने अफगानिस्तान में जो दहशत फैलाई है पूरी दुनिया उससे अच्छी तरह से वाकिफ है। ऐसे में कोई भी देश अफगानिस्तान की मदद के लिए आगे नहीं आ रहा है। इस कारण लोग बहुत चिंतित हैं कि पता नहीं आगे चलकर क्या होगा? कहीं न कहीं ये बात तो हम लोग भी अच्छी तरह से जानते हैं कि किस तरह इन तालिबानियों ने एक के बाद में एक राज्यों से अफगान सेना को पीछे धकेलते हुए तेजी के साथ राजधानी काबुल पर कब्जा कर लिया।

लेकिन देखने से तो यह लग रहा है कि अभी तक इन तालिबानियों का पाला अफगानिस्तान के असली देशभक्तों से नहीं पड़ा था।

तालिबान के खिलाफ हुई नए खिलाड़ी की एंट्री, इन इलाकों को फिर से कब्जाने की तैयारी शुरू

अफगानिस्तान में पंजशीर घाटी एक पूरा राज्य है और यह अभी तालिबान के नहीं बल्कि नोर्दर्न अलायन्स के कब्जे में है।

नोर्दर्न अलायन्स ने भरी हुंकार, अमरुल्लाह सालेह भी हैं साथ

यहां के लोग तालिबान के विरोध कर लोकतांत्रिक तरीके से एक सरकार बनाने के पक्ष में हैं। अहमद मसूद इसका नेतृत्व कर रहे है, जिनके पीछे हजारों लोगो की सेना खड़ी है और जो भी अफगान सेना के जवान है इन्होंने उनको भी अपने साथ में आने का आग्रह किया है।

सालेह के नेतृत्व में पंजशीर घाटी में इकट्ठा हुए सभी देशभक्त

तालिबान के खिलाफ हुई नए खिलाड़ी की एंट्री, इन इलाकों को फिर से कब्जाने की तैयारी शुरू

अफगानिस्तान के सारे स्वतंत्रता सेनानी, अफगान सेना के जवान और और कई आम लोग पंजशीर घाटी में अमरुल्लाह सालेह के नेतृत्व वाले नोर्दर्न अलायंस में जमा हो रहे हैं। इन लोगों का संकल्प है कि ये एक-एक करके सारे राज्य तालिबान से वापिस छीन लेंगे। इसके लिये इन्होंने विश्व के विभिन्न देशो से मदद मांगनी भी शुरू कर दी है। सूत्रों के अनुसार, इन्होंने तालिबान का संपर्क अफगानिस्तान के सबसे बड़े शहर मजार-ए-शरीफ से तोड़ने के लिए कार्यवाही भी शुरू कर दी है। इसके बाद ये इनके कण्ट्रोल में आ सकता है।

तालिबान को पहले भी खदेड़ चुका है नोर्दर्न अलायन्स

तालिबान के खिलाफ हुई नए खिलाड़ी की एंट्री, इन इलाकों को फिर से कब्जाने की तैयारी शुरू

नोर्दर्न अलायन्स के लिए यह कोई नयी चीज नहीं है। आज से लगभग बीस साल पहले भी जब तालिबान ने घुसपैठ की थी, तब भी उसे रोकने और भगाने में इन्होंने ही प्रमुख भूमिका निभाई थी। कई अस्पष्ट रिपोर्ट्स यह बात भी सामने आई है कि नोर्दर्न अलायन्स को भारत का भी पूरा सपोर्ट हुआ करता था। अगर इस बार भी इनको भारत से सपोर्ट मिलता है तो फिर ये आसानी से तालिबान को अफगानिस्तान से खदेड़ सकते हैं।

अमेरिका का स्टैंड स्पष्ट नहीं

तालिबान के खिलाफ हुई नए खिलाड़ी की एंट्री, इन इलाकों को फिर से कब्जाने की तैयारी शुरू

फिलहाल अमरुल्लाह सालेह और नोर्दर्न अलायन्स दोनों यह उम्मीद कर रहे हैं कि चाहे अमेरिका उन्हें फ़ोर्स न दे लेकिन अगर वह उनको कुछ हथियार आदि उपलब्ध करवा दे तो ये लोग अपनी पूरी जान लगाकर अफगानिस्तान को वापिस लेने के लिए तालिबान से युद्ध में भी पीछे नहीं हटेंगे। लेकिन अभी अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडन इस पर स्पष्ट नहीं हैं।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...