HomeDM की कुर्सी से बैडमिंटन के मैदान तक, जानिए कौन हैं टोक्यो...

DM की कुर्सी से बैडमिंटन के मैदान तक, जानिए कौन हैं टोक्यो पैरालंपिक में तिरंगा लहराने वाले IAS सुहास

Published on

टोक्यो में चल रहे पैरालंपिक गेम्स में नोएडा के डीएम सुहास एल यथिराज ने भारत के लिए सिल्वर मेडल जीत शानदार जीत दिलवाई है। उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर के जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने टोक्यो पैरालंपिक खेलों में इतिहास रच दिया है। पुरुष सिंगल्स बैडमिंटन स्पर्धा एसएल-4 में उन्होंने रजत पदक जीतकर देश का सर गर्व से ऊंचा कर दिया है। फाइनल में उनका मुकाबला फ्रांस के खिलाड़ी लुकास माजुर के साथ था, जिसमें लुकास ने 2-1 से जीत हासिल की।

टोक्यो पैरालंपिक 2020 में भारत इस साल शानदार प्रदर्शन कर रहा है। सुहास की जीत से देश भर में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है। खासकर नोएडा के लोगों में विशेष प्रसन्नता देखी जा सकती है। रजत पदक मिलने की खुशी में सुहास को बधाइयों का तांता लग गया है। प्रधानमंत्री मोदी से लेकर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक उन्हें बधाई दे रहे हैं। उनके परिजनों ने भी जीत पर खुशी जाहिर की है। 

DM की कुर्सी से बैडमिंटन के मैदान तक, जानिए कौन हैं टोक्यो पैरालंपिक में तिरंगा लहराने वाले IAS सुहास

पैरालिंपिक खेलों के बैडमिंटन स्पर्धा के फाइनल में पहुंच कर ऐतिहासिक कारनामा करने वाले आईएएस सुहास एल. यथिराज। रजत पदक जीतने के बाद पीएम मोदी ने बैडमिंटन खिलाड़ी सुहास एल यथिराज से फोन पर बातचीत की। पीएम ने पैरालंपिक्स खेलों में देश का सर ऊंचा करने पर उन्हें हार्दिक बधाई दी। उन्होंने सुहास के लिए ट्वीट भी किया। पीएम ने लिखा कि सेवा और खेल का अद्भुत संगम, सुहास यथिराज ने अपने असाधारण प्रदर्शन के चलते पूरे देश की कल्पना पर कब्जा कर लिया है, उन्हें बैडमिंटन में रजत पदक जीतने पर बधाई, सुहास को भविष्य के लिए ढेरों शुभकामनाएं। 

DM की कुर्सी से बैडमिंटन के मैदान तक, जानिए कौन हैं टोक्यो पैरालंपिक में तिरंगा लहराने वाले IAS सुहास

टोक्यो पैरालंपिक में बैडमिंटन के एसएल-4 कैटेगरी के फाइनल में नोएडा के डीएम सुहास एल यथिराज को रजत पदक से संतोष करना पड़ा है। वहीं, फोन पर बातचीत के दौरान सुहास ने अपने सफर में साथ और आशीर्वाद देने के लिए भगवान का धन्यवाद किया। उन्होंने पीएम मोदी को भी उनके सपोर्ट के लिए धन्यवाद कहा। सुहास ने पीएम मोदी से कहा कि टोक्यो के लिए रवाना होने से पहले आपने हमें संबोधित करते हुए कहा था कि सामने कौन है इसपर ध्यान दिए बिना हमें केवल अपने गेम पर फोकस करना है। इससे हमें बहुत हौसला मिला।

DM की कुर्सी से बैडमिंटन के मैदान तक, जानिए कौन हैं टोक्यो पैरालंपिक में तिरंगा लहराने वाले IAS सुहास

खेले गए इस गोल्ड मेडल मैच के दौरान स्टेडियम का माहौल बेहद गर्मजोशी से भरा हुआ था। अपने बचपन और संघर्ष के दिनों को याद करते हुए सुहास ने कहा कि मैं एक बहुत ही छोटे से शहर का रहने वाला हूं। जब मैं छोटा था तो कभी सोचना नहीं था कि जिंदगी में आईएएस बनूंगा, कलेक्टर बनूंगा या पैरालंपिक में मेडल मिलेगा लेकिन भगवान की कृपा और आपके आशीर्वाद से यहां तक आया।

Latest articles

फरीदाबाद कालीबाड़ी में हुआ निशुल्क मेगा स्वस्थ जाँच शिविर का आयोजन

30 September 2022 को फरीदाबाद कालीबाड़ी सेक्टर 16 के प्रांगण में एक निशुल्क मेगा...

पंडित सुरेंद्र शर्मा बबली की भतीजी भानुप्रिया पराशर ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन, इसरो में हुआ चयन

फरीदाबाद, 30 सितंबर। ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ले में रहने वाली भानुप्रिया पराशर का...

आप जिला अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने एनआईटी-86 के शमशान घाट में बैठकर किया प्रदर्शन

श्मशान घाट के सीवर का पानी पीने को मजबूर है एनआईटी 86 के लोग...

फरीदाबाद की बेटी ने रचा इतिहास, बोलने और सुनने में नहीं हैं सक्षम, लोगों को चौकाया वकील बनकर

भारत में जहाँ लोग अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए दिन रात एक...

More like this

फरीदाबाद कालीबाड़ी में हुआ निशुल्क मेगा स्वस्थ जाँच शिविर का आयोजन

30 September 2022 को फरीदाबाद कालीबाड़ी सेक्टर 16 के प्रांगण में एक निशुल्क मेगा...

पंडित सुरेंद्र शर्मा बबली की भतीजी भानुप्रिया पराशर ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन, इसरो में हुआ चयन

फरीदाबाद, 30 सितंबर। ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ले में रहने वाली भानुप्रिया पराशर का...

आप जिला अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने एनआईटी-86 के शमशान घाट में बैठकर किया प्रदर्शन

श्मशान घाट के सीवर का पानी पीने को मजबूर है एनआईटी 86 के लोग...