HomeFaridabadनिकिता के इंसाफ पर मुआवजे ने डाला पहरा, क्या मिल पाएगा बिटिया...

निकिता के इंसाफ पर मुआवजे ने डाला पहरा, क्या मिल पाएगा बिटिया को न्याय ? : मैं हूँ फरीदाबाद

Published on

नमस्कार! मैं हूँ फरीदाबाद एक बदनसीब शहर जिसमे जन्मी एक बेटी के इंसाफ का मोल चंद रुपयों में तोल लिया जाता है। मैं बात कर रहा हूँ उस अभागी निकिता के इंसाफ की जो अब हमारे बीच नहीं है। ये वही निकिता है जिसको इस समाज ने वीरांगना का खिताब देकर उससे उसका इंसाफ खरीद लिया है।

ये वही निकिता है जिसके इंसाफ की जगह अब करोड़ रूपये के मुआवजे ने ले ली है। ये वही निकिता है जिसकी मौत के मातम के बीच उसके भाई को सरकारी नौकरी देने की बात की जा रही है। दिल काँप उठता है यह सोच कर कि उस बच्ची पर क्या गुजरी होगी जब वो हैवान उसकी आँखों के आगे मौत का चोला पहनकर आए थे।

निकिता के इंसाफ पर मुआवजे ने डाला पहरा, क्या मिल पाएगा बिटिया को न्याय ? : मैं हूँ फरीदाबाद

वो अपना बचाव भी नहीं कर पाई पर उसकी आत्मा को उम्मीद थी कि उसके अपने, यह समाज और मैं बदनसीब फरीदाबाद उसे इंसाफ जरूर दिलवाऊंगा पर अब हम सब हार गए है। किसी की आँख पर मुआवजे की पट्टी बांध गई है, तो कोई धर्म रक्षण के लिए युद्ध के मैदान में उतरने को आमादा है। पर आज मैं फरीदाबाद एक सवाल पूछना चाहता हूँ।

निकिता के इंसाफ पर मुआवजे ने डाला पहरा, क्या मिल पाएगा बिटिया को न्याय ? : मैं हूँ फरीदाबाद

जब निकिता नहीं तो मुआवजा कैसा ? क्या निकिता की जान की कीमत एक करोड़ रूपये से तोली जा सकती है ? मैं जानता हूँ कि इस समय तोमर परिवार का दुख सबसे बड़ा है फिर निकिता के इंसाफ के बीच यह पैसे कहाँ से आए ? परिवार आर्थिक रूप से कमज़ोर नहीं है।

निकिता के इंसाफ पर मुआवजे ने डाला पहरा, क्या मिल पाएगा बिटिया को न्याय ? : मैं हूँ फरीदाबाद

निकिता के पिता कार्यरत हैं और उसका बड़ा भाई 23 वर्षिय नवीन पूर्ण रूप से पैसे कमाने के लिए सक्षम है ऐसे में मुआवजे की क्या जरूरत ? नवीन पढ़ा लिखा है तो क्या वह खुद से नौकरी नहीं ढूंढ सकता? मैंने निकिता की शोकसभा में परिवार की मांगे सुनी हैं और उन्हें सुनने के बाद मेरा दिल बैठ गया है।

निकिता के इंसाफ पर मुआवजे ने डाला पहरा, क्या मिल पाएगा बिटिया को न्याय ? : मैं हूँ फरीदाबाद

परिवार की पहली मांग है एक करोड़ का मुआफजा। दूसरी मांग है निकिता के भाई के लिए सरकारी नौकरी और तीसरी मांग है निकिता के नाम पर कॉलेज के नाम को रखा जाना। क्या इन तीनों मांगो में अतिरिक्त निकिता के परिवार की कोई और मांग नहीं ? कहाँ है निकिता के हत्यारों की फांसी और एनकाउंटर की मांग ? कहाँ है आरोपियों के परिवार को सजा दिलाने की मांग ?

निकिता के इंसाफ पर मुआवजे ने डाला पहरा, क्या मिल पाएगा बिटिया को न्याय ? : मैं हूँ फरीदाबाद

अब निकिता का इंसाफ खरीद लिया गया है। निकिता का इंसाफ खरीदा है सियासतदानो ने। निकिता का इंसाफ खरीदा है घड़ियाली आसुओं ने। मैं पूछना चाहता हूँ की फरीदाबाद में आए दिन लोग सड़क दुर्घटना से मौत के घात उतर जाते हैं। प्रशासन क्या उन सभी के परिवारों को एक करोड़ रूपये का मुआफजा देने के लिए तैयार है ?

निकिता के इंसाफ पर मुआवजे ने डाला पहरा, क्या मिल पाएगा बिटिया को न्याय ? : मैं हूँ फरीदाबाद

जानता हूँ कि आप लोग सोच रहे होंगे कि मैं निकिता के साथ हुए अपराध को सड़क दुर्घटना से क्यों तोल रहा हूँ। मैं यह इसलिए कर रहा हूँ क्यूंकि मैं आपको बताना चाहत हूँ कि इंसाफ मांगने के लिए एकमात्र विकल्प मुआवजा नहीं है। इंसाफ चाहिए तो मुआवजे से ऊपर उठना होगा और यह सोचना होगा कि अपराधी को इतनी कट्टर सजा मिले की अगली बार से ऐसे जघन्य अपराध न हो पाए।

Latest articles

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...

More like this

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...